मुख्यमंत्री के सपने को सच करने आ गए हैं डायरेक्टर कुमार नीरज! Bhaiyaji

 

स्टोरी | आरती चौधरी

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि यदि आपका हौसला और इरादा मजबूत हो तो दुनिया की कोई भी ताकत आपको हरा नहीं सकती है।अपने मजबूत इरादे के साथ सीएम नीतीश कुमार के सपने को पूरा करने भोजपुरी इंडस्ट्री के फ़िल्म निर्देशक कुमार नीरज ने एक पहल की शुरुआत कर दी है।कुमार नीरज अगले साल फ़िल्म दहेज बनाने की योजना बना चुके हैं। इस फ़िल्म के द्वारा कुमार नीरज दहेज प्रथा की कुरीतियां एवं शराबबंदी से जुड़ी चीजों को दिखाएंगे।

मुख्यमंत्री के सपने को सच करने आ गए हैं डायरेक्टर कुमार नीरज! Bhaiyaji

कुमार नीरज बिहार स्थित हाजीपुर के रहने वाले हैं। एक फ़िल्म डायरेक्टर बनने के लिए इन्हें बहुत सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। कुमार नीरज को बचपन से ही वीडियोग्राफी का बहुत शौक था। वर्ष 1985 में उनके पिता राजेश्वर प्रसाद सिंह के मृत्यु के बाद उनके घर मे गरीबी आ गयी।उसके बाद कुमार नीरज अपने बड़े भाई के साथ गाजियाबाद आ गए और वही पे रहने लगे। गाजियाबाद में वो अपने एक दोस्त के साथ मिलकर शादी समारोह में वीडियोग्राफी किया करते थे।

कुमार नीरज फ़िल्म इंडस्ट्री में एक प्रसिद्ध कैमरामैन बनने की चाहत रखते थे और उनके इस सपने को पंख उस दिन लग गए जब सन 1999 में क्रिकेट मैच के दौरान उन्हें बतौर पुरस्कार 25 रुपये मिले। उसके बाद वो अपने सपने को साकार करने मुम्बई के लिए निकल पड़े। वो मुम्बई तो आ गए लेकिन उन्हें अपनी मंजिल पाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी।

मुम्बई में उन्हें काफी परेशानियों से गुजरना पड़ा। उन्हें वहां रहने और खाने पीने में काफी तकलीफ हुई। अपनी स्ट्रगल की जिंदगी में उन्हें महीनों मंदिर में रहकर गुजारा करना पड़ा। इसी बीच उन्होंने दूरदर्शन के जूनियर जी सीरियल में बतौर सहायक निर्देशक काम किया और साथ हीं और भी कुछ सीरिअल्स में सहायक निर्देशक के तौर पर काम किया। काफी मेहनत के बाद उनकी मेहनत रंग लाई और उन्हें यूटीवी में बतौर असिस्टेंट प्रोड्यूसर काम करने का मौका मिला।

इसी बीच उन्होंने कई हिंदी फिल्मों में भी बतौर सहायक निर्देशक काम किया। लगभग सात साल तक काम करने के बाद कुमार नीरज ने खुद का प्रोडक्शन हाउस खोलने की ठान ली। अपने मजबूत इरादे को सच करने के लिए उन्होंने 2009 में फ़िल्म “मंगल भव” से अपने प्रोडक्शन हाउस की शुरुआत की। कुमार नीरज बजरंग बली के बहुत बड़े भक्त है इसलिए उन्होंने अपने प्रोडक्शन हाउस की शुरुआत फ़िल्म “मंगल भव” से की और इस फ़िल्म ने कामयाबी का परचम लहरा दिया।

मुख्यमंत्री के सपने को सच करने आ गए हैं डायरेक्टर कुमार नीरज! Bhaiyaji

‘मंगल भव’ के बाद उन्होंने फ़िल्म ‘दुल्हनिया ले जाईब’ का निर्देशन किया लेकिन यह फ़िल्म किसी कारणवश पूरी नही हो सकी लेकिन कुमार नीरज ने हिम्मत नहीं हारा और एक और फ़िल्म का निर्देशन किया। शायद भगवान को कुछ और हैं मंजूर था और इनकी ये फ़िल्म भी बीच रास्ते मे लटक गई। उसके बाद कुमार नीरज ने ठान लिया कि अब अपने बिहार में फ़िल्म बनाऊंगा और बिहार का नाम रौशन करूँगा। उनका कहना है कि वो भोजपुरी के इतिहास को बदलना चाहते हैं और सिर्फ साफ- सुथरी और पारिवारिक फिल्में बनाने चाहते हैं।

आपको बता दें कि कुमार नीरज ने फ़िल्म “दिल हमार माने का” निर्देशन किया है जो कि इसी साल रिलीज होने वाली है। कुमार नीरज की एक और फ़िल्म “बलवान” बनकर तैयार है जो अगले साल फरवरी में रिलीज होने वाली है। कुमार नीरज काफी मेहनती व्यक्ति हैं। उनका कहना है कि उनकी फिल्म दिल हमार माने ना को सपोर्ट नही मिल रहा है क्योंकि यह एक साफ-सुथरी फ़िल्म है।

उन्होंने कहा कि मैं खुद अपनी फिल्म को सपोर्ट करूँगा और रिलीज करूँगा। उन्होंने आगे कहा कि भोजपुरी में साफ सुथरी फिल्में बनाकर भोजपुरी को लेकर लोगों की सोच को बदलना चाहता हुं। कुमार नीरज की इस फ़िल्म बलवान में भोजपुरी के जाने माने अभिनेता वीराज भट्ट ,राजवीर सिंह ने भी अहम भूमिका निभाई है।

इस स्टोरी को हमें भेजा है आरती चौधरी ने | आरती अभिनेत्री और न्यूज़ एंकर हैं | वर्तमान में आरती पटना में रह रहीं हैं यह लेखिका के निज़ी विचार हैं |

आप भी अपने लेख हमें 7224011011 पर वाट्सएप्प या Thebhaiyaji24@gmail.com पर भेज सकते हैं | 

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.